About us

“मैं मोदीजी से निवेदन करना चाहूंगा कि जब वे अपनी अगली विदेश यात्रा पर जाएं तो दूसरे मोदीजी को वापस ले आएं।” – कांग्रेस अध्यक्ष

0

पीएनबी फ्रॉड केस में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसा। राहुल ने कहा, “मैं मोदीजी से निवेदन करना चाहूंगा कि जब वे अपनी अगली विदेश यात्रा पर जाएं तो दूसरे मोदीजी को वापस ले आएं।” कांग्रेस अध्यक्ष ने यहां दूसरे मोदीजी का जिक्र नीरव मोदी के लिए किया। उन्होंने आरोप लगाया कि विजय माल्या और नीरव मोदी को देश छोड़ने देने से केंद्र सरकार भी इस भ्रष्टाचार में हिस्सेदार हो गई है। 11,356 करोड़ के पीएनबी फ्रॉड में राहुल मोदी लगातार केंद्र सरकार और मोदी पर आरोप लगा रहे हैं।

और क्या बोले राहुल गांधी?

1) ये सरकार भ्रष्टाचार खत्म नहीं कर सकती

– राहुल मंगलवार को मेघालय पहुंचे। यहां उन्होंने कहा, “विजय माल्या और नीरव मोदी स्कैंडल से हमें ये पता लग गया है कि देश की सरकार भ्रष्टाचार को खत्म नहीं कर सकती है। ये सरकार भ्रष्टाचार में पूरी तरह भागीदार है। ये सरकार उम्मीद देने, सुरक्षा और आर्थिक विकास देने की बजाय निराशा, बेरोजगारी, डर, हिंसा और नफरत दे रही है।”

2) पैसा चुराकर भागने वाले बीजेपी सपोर्टर
– “मोदीजी से निवेदन है कि जब वे अपनी अगली विदेश यात्रा पर जाएं तो दूसरे मोदीजी को वापस ले आएं। मेहनत से कमाई गई पूंजी लौटने पर हम एक देश के तौर पर उनके आभारी रहेंगे। मैं जानता हूं कि उनके पास (बीजेपी) बहुत पैसे हैं, क्योंकि कुछ अमीर भारतीय, जिनमें बैंकों से पैसा चुराकर विदेश भागने वाले भी शामिल हैं… उनके सपोर्टर हैं।”

3) ये लोग भगवान को भी खरीदना चाहते हैं

– “केंद्रीय टूरिज्म मिनिस्टर केजे अलफोंस ने 70 करोड़ रुपए के प्रोजेक्ट का ऐलान किया। जिसके तहत मेघालय के चर्चों और धार्मिक स्थलों का सौंदर्यीकरण किया जाना था। लेकिन, राज्य के दो चर्चों ने इसे सिरे से खारिज कर दिया। इन लोगों (बीजेपी) ने मेरी पार्टी के कुछ मेंबर्स को खरीद लिया, अपने घमंड में ये सोच रहे हैं कि भगवान को भी खरीद सकते हैं। चर्च, मंदिर, गुरुद्वारे, मस्जिदें बिक्री के लिए नहीं होतीं।’

इससे पहले मोदी पर कांग्रेस अध्यक्ष ने क्या कहा?

1) कहां है देश का चौकीदार?

– राहुल गांधी ने ट्वीट किया, “पहले ललित, फिर माल्या, अब नीरव भी हुआ फरार। कहां है ना खाऊंगा, ना खाने दूंगा कहने वाला देश का चौकीदार? साहेब की खामोशी का राज जानने को जनता बेकरार, उनकी चुप्पी चीख-चीखकर बताए वो किसके हैं वफादार।”

2) एग्जाम पर 2 घंटे स्पीच, बैंक स्कैम पर 2 मिनट नहीं बोलते

-राहुल ने रविवार को एक ट्वीट किया। इसमें नरेंद्र मोदी के साथ ही फाइनेंस मिनिस्टर अरुण जेटली पर भी तंज कसा। राहुल ने कहा- एग्जाम में कैसे पास हों, इस पर प्रधानमंत्री बच्चों को 2 घंटे की स्पीच देते हैं। लेकिन, 22 हजार करोड़ रुपए के बैंक स्कैम पर वो 2 मिनट भी नहीं बोलते।

3) जेटली छिप रहे हैं

– रविवार को ही ट्वीट में राहुल ने जेटली पर सवाल उठाया और कहा- अरुण जेटली छुप रहे हैं। किसी दोषी की तरह व्यवहार करना बंद कीजिए। अब तो बोलिए।

4) पीएमओ को सबकुछ पता था

– शनिवार को कांग्रेस प्रेसिडेंट ने कहा था, “क्या हुआ, क्यों हुआ और मोदी जी इस पर क्या कदम उठा रहे हैं। सुनने में मिला है कि पीएमओ को सबकुछ पता था। नीरव मोदी के 22 हजार करोड़ रुपए के घोटाले की जानकारी सरकार को पहले से थी। पीएम नरेंद्र मोदीजी और वित्त मंत्री को इसका जवाब देना होगा।”

कांग्रेस ने पूछे थे 4 सवाल

– कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने नीरव मोदी केस में मोदी सरकार से 4 सवाल पूछे थे।

1. “नीरव मोदी कौन हैं? ये नया #मोदीस्कैम है?”

2. “क्या नीरव मोदी को ललित मोदी और विजय माल्या जैसे देश से बाहर जाने के लिए सरकार के अंदर से मदद मिली?”

3. “क्या ये नियम बन गया है कि जनता का पैसा लेकर भाग जाएं?”

4. “26 जुलाई 2016 को इस बारे में मालूम चलने के बाद पीएम ने एक्शन क्यों नहीं लिया?”

क्या है 11356 करोड़ का पीएनबी फ्रॉड केस?

– पंजाब नेशनल बैंक ने पिछले दिनों सेबी और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को 11,356 करोड़ रुपए के घोटाले के जानकारी दी थी। घोटाले को पीएनबी की मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में अंजाम दिया गया। शुरुआत 2011 से हुई। 7 साल में हजारों करोड़ की रकम फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स (LoUs) के जरिए विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई।

– हीरा कारोबारी नीरव मोदी और गीतांजलि ग्रुप्स के मालिक मेहुल चौकसी। इन दोनों ने गोकुलनाथ शेट्टी के साथ मिलकर इस घोटाले को अंजाम दिया।

Share.

About Author

Leave A Reply