About us

मोदी सरकार का सिद्धांत धोखा देना और डराना-धमकाना है- सोनिया

0

सोनिया गांधी ने कांग्रेस संसदीय दल की बैठक के दौरान कहा कि मोदी सरकार का सिद्धांत धोखा देना और डराना-धमकाना है। जो लोग पहले खुद को अजेय समझते थे, उन्हें राहुल गांधी और उनके कार्यकर्ताओं ने अपना सबकुछ देकर कड़ी टक्कर दी। सोनिया ने राहुल की तारीफ करते हुए कहा- कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद राहुल ने अथक मेहनत की और उन्होंने देश की तरक्की के लिए ऐसे दूसरे दलों से भी बात की, जो हमारी तरह की सोच रखते हैं।

 राजस्थान-मप्र में जीत से उम्मीद जागी- सोनिया
सोनिया ने कहा कि राहुल गांधी अपने विरोधी को टक्कर दे रहे हैं। सोनिया ने कहा कि राहुल की टीम में अनुभव और युवा जोश का सही संतुलन है। राजस्थान, छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश में हमारी जीत ने हमें नई उम्मीद दी है। हम अगले लोकसभा चुनाव में पूरे आत्मविश्वास और संकल्प के साथ उतरेंगे। हमारे विरोधी पहले खुद को अजेय समझ रहे थे। कांग्रेस अध्यक्ष ने उन्हें चुनौती दी। जिस सोच में हमारा विश्वास था, उसके बल पर हम जीते। मोदी सरकार के समय आज पूरे देश में भय और घृणा का माहौल है। पूर्वोत्तर जल रहा है। जम्मू-कश्मीर के हालात बदतर हैं। दलित-आदिवासी और अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है। किसानों ने इतनी बड़ी मुश्किलें कभी नहीं झेलीं। बेरोजगार युवाओं ने निराशा का ऐसा दौर कभी नहीं देखा।

संसद में लगे चौकीदार चोर है के नारे, अनिश्चित काल के लिए स्थगित

राफेल डील को लेकर बुधवार को लोकसभा में जोरदार हंगामा हुआ। विपक्ष ने चौकीदार चोर है के नारे लगाए गए। इस पर स्पीकर ने सदन की कार्यवाही को तीन बजे तक स्थगित कर दिया था। इसके बाद विपक्षी सांसद बाहर आए और संसद परिसर में प्रदर्शन किया। बजट सत्र का आज आखिरी दिन था।  वहीं, संसद परिसर में तृणमूल कांग्रेस और तेदेपा के सांसदों ने भी प्रदर्शन किया। तृणमूल सांसदों के पोस्टर में लिखा था- मोदी सरकार की एक्सपायरी डेट खत्म हो चुकी है। तेदेपा सांसद आंध्रप्रदेश को विशेष दर्जा दिए जाने की मांग कर रहे थे। राफेल मुद्दे पर आज राज्यसभा में नियंत्रक एवं महालेखापरीक्षक (कैग) की रिपोर्ट भी पेश गई। रिपोर्ट में बताया गया कि 126 की तुलना में 36 विमानों का सौदा करने पर सरकार 17.08% रकम बचाने में कामयाब रही।

जेपीसी से जांच करवाने को लेकर विपक्ष का हंगामा
राफेल डील पर कांग्रेस के आरोपों के बीच मोदी सरकार ने मंगलवार को कैग की रिपोर्ट संसद में पेश की। रिपोर्ट में कहा गया कि यूपीए सरकार में हुए सौदे से सस्ती डील मोदी सरकार के दौरान की गई। इस दौरान विपक्ष ने जेपीसी से जांच के लिए हंगामा किया। गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि विपक्ष डील को लेकर बार-बार झूठ न बोलें, इससे आरोप सच साबित नहीं हो जाएंगे। फ्रांस के साथ 36 राफेल विमान सौदे में कांग्रेस लगातार गड़बड़ी के आरोप लगा रही है।

Share.

About Author

Leave A Reply