About us

रकतउल्ला विश्वविद्यालय परिसर में बीते सोमवार की रात परीक्षा शाखा में कार्यरत कर्मचारी पत्नी और बेटी के साथ हुई छेड़छाड़

0

बरकतउल्ला विश्वविद्यालय परिसर में बीते सोमवार की रात परीक्षा शाखा में कार्यरत कर्मचारी पत्नी और बेटी के साथ हुई छेड़छाड़ की घटना को लेकर प्रशासन द्वारा घटना के 48 घंटे बाद बागसेवनिया थाना पुलिस को शिकायत की गई है। उधर, सिक्योरिटी एजेंसी प्रिंसिपल सिक्योरिटी एंड एलाइड सर्विसेस को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। इसे कांट्रेक्ट खत्म करने की चेतावनी दी गई है। वहीं, एजेंसी की जांच के लिए कमेटी बनाने की तैयारी है। महिला ने आरोप लगाया था कि एजेंसी का सुपरवाइजर भी नशे में था।

बीयू कैंपस में बीते सोमवार रात 9:50 बजे एक्वाकल्चर डिपार्टमेंट के सामने बनी पुलिया पर बीयू परिसर स्थित आवास में रह रहे कर्मचारी की पत्नी और बेटी के साथ हुई इस घटना की शिकायत कर इस मामले में कार्रवाई की मांग की गई थी। लेकिन, महिला सुरक्षा से जुड़े इस मामले को प्रशासन ने दबाए रखा। बागसेवनिया थाने में शिकायती पत्र बुधवार रात 8 बजे के बाद पहुंचाया गया है। उधर, परीक्षा शाखा में कार्यरत कर्मचारी ने इस मामले में कर्मचारी संघ के पदाधिकारियों को भी जमकर खिचाई की है। कर्मचारी का कहना है कि परिसर पूरी तरह से असुरक्षित है। इसके बाद भी नेता लोग शांत बैठे हैं। जबकि, शिकायत की एक कॉपी उन्हें भी दी गई थी।

छात्रों की शुरू नहीं हो सकी पहचान : उधर, स्थापना दिवस समारोह मना लेने के बाद भी गुरुवार को हॉस्टल के छात्रों की पहचान करना शुरू नहीं किया जा सका है। जबकि कुलपति प्रो. डीसी गुप्ता का दावा था कि इस मामले में वार्डन को निर्देश जारी कर दिए हैं। लेकिन हॉस्टल वार्डन का कहना है कि उन्हें इस संबंध में कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुए हैं।

सुरक्षा के नाम पर लंबे समय से चल घालमेल : बीयू में सुरक्षा एजेंसी के नाम पर हमेशा से घालमेल होता रहा है। पिछले सुरक्षा एजेंसी आस्कर की जांच को लेकर कार्यपरिषद में हुए निर्णय से अधिकारियों हेराफेरी कर ऐसी बातें जोड़ दी थीं जिससे एजेंसी के नाम पर हो रही गड़बड़ी को दबाया जा सके। इस मामले में कार्यपरिषद सदस्यों ने पिछली बैठक में उठाया था। लेकिन, इस मामले को भी प्रशासन द्वारा दबाने के प्रयास किए जा रहे हैं।

90 गार्ड तैनात करने का दावा : बीयू ने एजेंसी के माध्यम से 90 गार्ड तैनात कर रखे हैं। इसमें अलग-अलग शिफ्ट में 25 से 30 गार्ड की ड्यूटी लगाई जाती है। इसमें से ही मैनेज करके एजेंसी संचालक को अधिकारियों की सेवा में भी उनके घरों में सुरक्षा गार्ड पहुंचाने पड़ते हैं। ऐसे में नई सुरक्षा एजेंसी तैनात होने के बाद भी वही स्थिति बनी हुई थी जो मार्च 2018 के पहले तक थी। नई एजेंसी को मार्च 2018 में बीयू की सुरक्षा की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

Share.

About Author

Leave A Reply