About us

लेखापाल पुरानी जेल स्थित पानी की टंकी पर शाम को चढ़ गए और वहां से सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे

0

परीक्षा में चयन होने के बाद नियुक्ति नहीं मिलने से नाराज बेरोजगार लेखापालों का गुस्सा शुक्रवार को ज्यादा बढ़ गया। यादगारे शाहजहांनी पार्क में कई दिनों से डटे आंदोलनकारियों में से 40 से ज्यादा चयनित लेखापाल पुरानी जेल स्थित पानी की टंकी पर शाम को चढ़ गए और वहां से सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। लेखापालों की मांग है कि हम जब तक कोई शिक्षामंत्री और अधिकारी मौके पर आकर काउंसलिंग शुरू करने का आश्वासन नहीं देते हैं, तब तक हम टंकी पर चढ़े रहेंगे।

-बता दें कि यादगारे शाहजहांनी पार्क में आंदोलनकारियों का प्रदर्शन सोमवार से चल रहा है। आंदोलनकारियों ने नियुक्ति जल्द देने की मांग को लेकर सामूहिक आत्मदाह की चेतावनी भी दी है। बेरोजगार लेखापाल संघ के अध्यक्ष लेवेंद्र गाडगे, विनोद धाकड़, पूनम वाइकर, अर्चना ठाकुर समेत अन्य पदाधिकारियों ने बताया कि तीन साल पहले व्यापमं द्वारा 2208 पदों के लिए ली गई। परीक्षा के बाद मेरिट के आधार पर उनका चयन हुआ था।

 -राज्य शिक्षा केंद्र को छोड़कर अन्य विभागों में नियुक्तियां कर दी गईं। तीन साल से राज्य शिक्षा केंद्र के आयुक्त से लेकर सीएम तक के चक्कर काटे। इसके बाद कोई कार्रवाई नहीं हुई है। चयनित लेखापाल विनोद धाकड़ का कहना है कि जब तक मांगे पूरी नहीं हो जाती है तब तक कोई नीचे नहीं उतरेगा।
Share.

About Author

Leave A Reply