About us

शिवपुरी-गुना सड़क लोकार्पण कार्यक्रम में आमंत्रित नहीं किए जाने से नाराज गुना से कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया

0

दो दिन पहले गुना में शिवपुरी-गुना सड़क लोकार्पण कार्यक्रम में आमंत्रित नहीं किए जाने से नाराज गुना से कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन के खिलाफविशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव लाने का नोटिस दिया है। इस संबंध में लोकसभा अध्यक्ष को सूचित कर दिया गया है।

सिंधिया ने ट्वीटर पर एक के बाद एक कई ट्वीट करके मुख्यमंत्री से कहा कि आप शिलापट्टिका से मेरा नाम हटवा सकते हैं, एक निर्वाचित विधायक को मंच से धक्के मारकर हटा सकते हैं, लेकिन जनता की दिलों से आप हमें और हमारे विकास कार्यों को कैसे निकालेंगे? शिवराज जी की घबराहट और कुर्सी छूटने का डर जनता जनार्दन को साफ दिखाई दे रहा है। उन्होंने #शिवराज_बेनकाब भी लिखा।

सिंधिया ने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि इस घटना में निर्धारित प्रोटोकॉल और नियमों का सीधा-सीधा उल्लंघन है। गुना-शिवपुरी की जनता का जिम्मेदार जनप्रतिनिधि होने के नाते यह मेरे विशेष अधिकार का भी हनन है। इसलिए मैं शिवराज चौहान, राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन के खिलाफ विशेषाधिकार प्रस्ताव ला रहा हूं। उन्होंने कहा कि जिस शिला पट्टिका में मेरे नाम का उल्लेख था उस को तोड़ के फेंक दिया गया व नए शिला पट्टिका को रातोंरात तैयार कर लगाया गया।
तुरंत कार्रवाई की मांग : सिंधिया ने लिखा कि कार्मिक प्रशासन विभाग के 1 दिसम्बर 2011 के प्रोटोकाल संबंधी परिपत्र एवं 6 फरवरी-2014 को संसद में प्रस्तुत सांसद प्रोटोकाल रिपोर्ट का सीधा उल्लंघन मुख्यमंत्री शिवराज चौहान, राज्य सरकार एवं जिला प्रशासन ने किया है। जो स्पष्ट रूप से किसी भी सांसद के विशेषाधिकार हनन की श्रेणी में आता है। इसलिए इस पर तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सत्ता के अहंकार और मद में पूरी तरह से चूर मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार किस तरह से लोकतंत्र और जनभावनाओं का गला घोंट रही है इसका प्रत्यक्ष प्रमाण गुना में देखने को मिला है।

विधायक को मंच से धकेलकर नीचे उतारा गया था : 23 जुलाई को गुना में मुख्यमंत्री व केंद्रीय मंत्री की मौजूदगी में इस राष्ट्रीय राजमार्ग का शिलान्यास समारोह हुआ, लेकिन क्षेत्र का निर्वाचित सांसद होने के बावजूद मुझे इस कार्यक्रम से दूर रखा गया, आमंत्रण पत्र में नाम तक नही दिया दिया। इसे लेकर जब बमोरी के कांग्रेस विधायक महेंद्र सिंह सिसौदिया ने मंच पर कार्यक्रम का बहिष्कार करने की कोशिश की तो सुरक्षा कर्मियों ने उन्हें धक्का देकर मंच से नीचे उतार दिया था। इसके विरोध में कांग्रसियों ने केंद्रीय राजमार्ग, जहाजरानी और जल संसाधन मंत्री नितिन गडकरी और मुख्यमंत्री को काले झंडे दिखाने की कोशिश तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

केंद्र सरकार के कार्यक्रम में मुख्यमंत्री किसी नहीं बुलाते : मध्य प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री नरोत्तम मिश्रा का कहना है कि उसी दिन कलेक्टर का बयान आ गया था कि सांसद ने कार्यक्रम में नहीं आने की बात कही थी। इसके बाद भी। वैसे भी कार्यक्रम केंद्र सरकार का था, उसमें मुख्यमंत्री नहीं बुलाते। इस संबंध में गुना कलेक्टर वी विजय कुमार का कहना है कि कार्यक्रम के लिए हमने सांसद जी के पीए से बात की थी, उन्होंने तीन घंटे बाद जवाब दिया। जिसमें जवाब दिया कि सांसद सिंधिया कार्यक्रम नहीं आ सकेंगे। इसके बाद ही हमने कार्यक्रम के कार्ड बंटवाए।

Share.

About Author

Leave A Reply