About us

300 करोड़ की लागत से बने कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का लोकार्पण करते हुए शहर को चार सौगातें दीं

0

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मंगलवार को स्मार्ट सिटी कारपोरेशन कार्यालय में 300 करोड़ की लागत से बने कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का लोकार्पण करते हुए शहर को चार सौगातें दीं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इससे शहर के स्मार्ट सिटी के विजन में तेजी आएगी। इसके साथ ही भोपाल में देशभर से आए स्मार्ट सिटी के सीईओ का सम्मेलन शुरू हो गया।

-होटल कोर्टयार्ड मैरियट में स्मार्ट सिटी सीईओ के सम्मेलन का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्मार्ट सिटी कारपोरेशन द्वारा बनाए गए कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से लेकर स्टार्टअप स्किल मैनेजमेंट सिस्टम से कालेजों और स्कूल के बच्चों को इंट्रोड्यूज कराया जाएगा।

अब दिख रहा है पीएम मोदी का विजन
-मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी मैन आॅफ आईडियाज हैं। पहले मैं सोचता था कि स्मार्ट सिटी में क्या होगा। अब दिख रहा है प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का विजन। मेरा देश बदल रहा है, आगे बढ़ रहा है, स्मार्ट बन रहा है। स्वच्छता अभियान ने लोगों की मानसिकता को बदला है। प्रदेश के आगे बढ़ाने की हमारी तड़प है।

महापौर ने कहा, समय पर काम होंगे
-महापौर आलोक शर्मा ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि स्मार्ट सिटी के सभी काम निर्धारित समय-सीमा और गुणवत्ता के साथ पूरे होंगे। महापौर ने देशभर से आए सभी सीईओ से कहा कि वे अपने अनुभव साझा करें। इससे जो मंथन निकलेगा वह देशभर के स्मार्ट सिटी के विकास में काम आएगा।

-स्मार्ट सिटी के सीईओ चन्द्रमौलि शुक्ला ने बताया कि इसके लिए यहां पर स्पेशल कैम्प भी लगेंगे जिनमें चयनित युवाओं को अपने प्रोडक्ट को मार्केट में किस तरह से लांच करना है इसकी जानकारी दी जाएगी। इसके लिए स्मार्ट सिटी कारपोरेशन ने तीन स्पेशल कंपनियों से एमओयू भी साइन किये हैं।

-स्मार्ट सिटी के अंतर्गत आज शहर के लिए 4 सुविधाओं की शुरुआत हुई। मुख्यमंत्री चौहान ने होटल कोर्टयार्ड मेरिट में देशभर से आए स्मार्ट सिटी के सीईओ को संबोधित किया। कार्यक्रम में केन्द्रीय मंत्री हरदीप सिंह, केन्द्रीय विकास मंत्रालय के सचिव डी.एस. मिश्रा, सीएस बीपी सिंह, सांसद आलोक संजर, पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर, सहकारिता राज्य मंत्री विश्वास सारंग, महापौर आलोक शर्मा नगरीय विकास के सचिव विवेक अग्रवाल, कमिश्नर अजातशत्रु, निगम आयुक्त प्रियंका दास आदि मौजूद रहे।

1- इंटीग्रेटेड ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम

सड़कों पर बिना हेलमेट-सीट बेल्ट गाड़ी चलाना और अन्य ट्रैफिक उल्लघंन कैमरों की मदद से रिकार्ड होगा और घर बैठे मोबाइल पर ई-चालान भेजा जाएगा।

2- कंट्रोल एंड कमांड सेंटर

-300 करोड़ की राशि से बने कंट्रोल एंड कमांड सेंटर में नगरीय निकाय, स्वास्थ्य, फायर आदि की सेवाओं को भी इंटीग्रेटेड किया जाएगा। यहां पर मौसम सहित अन्य व्यवस्थाएं एक साथ होंगी।

3- स्टार्टअप स्किल मैनेजमेंट सिस्टम

स्मार्ट सिटी सेल में बने स्टार्टअप स्किल मैनेजमेंट सिस्टम के लिए शहर के युवाओं की स्किल को नए प्रोडक्टों को इंप्रूव करने के लिए तैयार किया गया है। यहां पेशेवर तरीके से उनको नयी चीजों को बनाना और उसको मार्केट में किस तरह से लाया जाएगा इसकी ट्रेनिंग दी जाएगी।

4- ग्राउंड वे से मार्केटिंग अप्रोच सिस्टम

मार्केटिंग अप्रोच सिस्टम के लिए र्स्माट सिटी ने कई कंपनियों से एमओयू साइन किए हैं। इनके विशेषज्ञ युवाओं को मार्केट में किस तरह से अपना उद्योग लगाना है आदि की जानकारी दी जाएगी।

Share.

About Author

Leave A Reply