About us

पीओके भारत का हिस्सा है, उम्मीद है इसे एक दिन अपने अधिकार में ले लेंगे- जयशंकर

0

विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने सरकार के सौ दिन पूरे होने पर मंगलवार को विदेश मंत्रालय के कार्यों का ब्योरा प्रेसवार्ता के जरिए पेश किया। उन्होंने कहा कि पीओके भारत का हिस्सा है। उम्मीद है इसे एक दिन अपने अधिकार में ले लेंगे।  जयशंकर ने कहा- कश्मीर मामले पर एक सीमा के बाद, हम सभी को बहुत ज्यादा सोचने की जरूरत नहीं है कि लोग क्या कहेंगे। वैसे भी यह भारत का आंतरिक मामला है, जिसे बहुत ज्यादा प्रचारित किया गया है। आगे भी किया जाएगा। मगर इससे स्थिति नहीं बदलना है क्योंकि यह तो 1972 से स्पष्ट है। दुनिया में भारत की स्थिति पर जयशंकर ने कहा- मैं मानता हूं कि यदि आप आज के दौर में मल्टीलेटरल फोरम जैसे जी20, ब्रिक्स में होने वाली बड़ी डिबेटों को देखें तो आप पाएंगे कि वहां भारत की आवाज और उसके विचार पहले से कहीं ज्यादा स्पष्ट तरीके से सुने जा रहे हैं। नीतियों के मामले पर उन्होंने कहा, ‘‘भारत की घरेलू और विदेशी नीति के बीच गहरा संबंध है। हमारी राष्ट्रीय नीति और विदेश नीति के लक्ष्यों के बीच जो सह-संबंध है, वो मजबूत बनने का है। हमारी विदेश नीति का जो यूनिक पहलू है, वो जल्द ही आपको अमेरिका में देखने को मिलेगा। भारतीय-अमेरिकन कम्युनिटी वहां एक बड़ा इवेंट करने वाली है।’’ जयशंकर ने कहा, ‘‘हमने पिछले सौ दिनों में अफ्रीका में बहुत काम किया। वहां को लेकर हमने जो भी कहा था, उसी दिशा में काम भी किया। हमारी तैयारी वहां 18 राजदूतावास खोलने की है। हम भी एक बेहतर और मजबूत पड़ोस बनाना चाहते हैं। मगर हम अपने ही एक पड़ोसी से अनोखी चुनौती से जूझ रहे हैं। हमारा पड़ोसी सामान्य व्यवहार नहीं करता, सीमापार आतंकवाद का मसला ठीक से हल नहीं होता, तब तक यह चुनौती बनी रहेगी।’’

अमेरिका से जल्द ही कुछ मुद्दों पर बात होगी: जयशंकर

जयशंकर ने भारत-अमेरिका रिश्तों पर कहा, ‘‘मैं आपको सुनिश्चित करता हूं कि यह रिश्ता बेहद अच्छी स्थिति में है। जैसे-जैसे रिश्ता बढ़ता है,  कुछ मसले भी सामने आते हैं। हम अमेरिका से उन मसलों पर बात कर रहे हैं। मुझे उम्मीद है कि जो मुख्य बिंदु हैं, उन पर जल्द ही चर्चा होगी।’’ उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के ह्यूस्टन इवेंट पर कहा, ‘‘मैं इस आयोजन को भारतीय-अमेरिकी कम्युनिटी का एक बड़ा अचीवमेंट मानता हूं। यदि आज वहां इस स्तर का इवेंट हो रहा है, उसमें अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी शिरकत करने वाले हैं तो यह दर्शाता है कि कम्युनिटी कहां तक पहुंच गई है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने वहां की कम्युनिटी का निमंत्रण स्वीकार किया। यह निश्चित रूप से सम्मान की बात है।’’

Share.

About Author

Leave A Reply